ॐ नमः शिवाय – आत्मा ही शिव तत्व है| शिव ही सत्य है|

ॐ नमः शिवाय  (Om Namah Shivaya ) is a panchaskara mantra, meaning it’s made up of five syllables or literally the five holy letters (na – mah – shi – vaa – ya). It is preceded by Om or Aum, which is said to be the sacred primordial sound. The five holy vowels are the seed sounds of the five elements of creation—earth, water, fire, air, and ether—and as one chants it, one is working through the process of creation in reverse, hence perhaps the mantra’s reputed power of destroying manifestations of sin and imperfections. Another interesting interpretation is that these five syllables represent aspects of a person within the different dimensions, beginning and culminating in “Om,”    the sacred primordial sound that is a symbol of the eternal divine.

Chanting ॐ नमः शिवाय (Om Namah Shivaya ) should be practiced in a calm, relaxed, and gently focused state, in mindfulness that the mantra is a salutation to the divine forces of life.

ॐ नम: शिवाय:  मन्त्र का मतलब हुआ कि आत्मा घृणा, तृष्णा,स्वार्थ, लोभ, इर्ष्या, काम, क्रोध, मोह, मद और माया से रहित होकर प्रेम और आनंद से लबालब मूल प्रकृति परमात्मा का सानिध्ये प्राप्त करे|

इच्छाओं का जन्म स्थल मन और कारण ज्ञानेन्द्रियाँ , विचारों का जन्म स्थल बुद्धि और कारण अन्तकरण होता है  और कर्म का कर्ता कामेंद्रियाँ होती हैं| मन का ही मतलब मूड होता है| जब साधक मन रहित होकर ध्यान करता है तो मन के प्रभाव से मुक्त हो अपने भीतर अपनी आत्मा के निकट होता चला जाता है|

आत्मा ही शिव तत्व है| शिव ही सत्य है| शिव ही कल्याण कारी सम्पूर्ण सृष्टि से प्रेम करने वाला सबको उपर उठाने वाला है| और इसका विपरीत होता है शव| शिव के बाहर निकलते ही शरीर शव हो जाता है|मन को जब हम उल्टा करते हैं तो बनता है नम:|

ॐ नम: शिवाय का मतलब हुआ कि (अ +उ +म अर्थात आत्मा +परमात्मा +प्रकृति) नम: का तात्पर्य हुआ कि मन अर्थात इच्छाओं से दूर अर्थात अपनी आत्मा के निकट और शिवाय का तात्पर्य हुआ कि शिव तत्व अर्थात प्रेम अर्थात परमात्मा के  निकट|

तो अर्थ हुआ कि मेरी आत्मा इस जड़ प्रकृति से दूर प्रेम और आनंद से परिपूर्ण मूल प्रकृति अर्थात परमात्मा के निकट आ जाये|

Taken from :

  • [English] http://www.thespiritualsun.com/practices/texts/hindu/om-namah-shivaya
  • [Hindi]    https://spiritualvilla.wordpress.com/2012/01/20/ॐ-नम-शिवाय-मन्त्र-का-आधुनि/
Advertisements

Leave a Reply