भारत-चीन युद्ध :1962 ( watch this episode of Pradhanmantri)

भारत-चीन युद्ध जो भारत चीन सीमा विवाद के रूप में भी जाना जाता है, चीन और भारत के बीच 1962 में हुआ एक युद्ध था। विवादित हिमालय सीमा युद्ध के लिए एक मुख्य बहाना था, लेकिन अन्य मुद्दों ने भी भूमिका निभाई। चीन में 1959 के तिब्बती विद्रोह के बाद जब भारत ने दलाई लामा को शरण दी तो भारत चीन सीमा पर हिंसक घटनाओं की एक श्रृंखला शुरू हो गयी।

भारत को ब्रिटिश शासन से आजादी मिले बस 15 साल ही हुए थे, भारतीय सेनाएं जंग के लिए अभी तैयार नहीं थी कि चीन ने भारत की कमजोरी का फायदा उठाकर 20 अक्‍टूबर 1962 को आक्रमण कर दिया। युद्ध में भारत के 12000 जाबाज सैनिक, चीन के 80000 सैनिकों के आगे थे। नतीजा भारत की एक न भूलने वाली हार। इस युद्ध से पहले चीन ने भारत से हमेशा ही मित्रता के संकेत दिये और भारत की संप्रभुता का भी सम्‍मान किया । जिससे भारत चीन की मंशा का अंदाजा नहीं लगा सका। इस थोपी गई लड़ाई में भारत के 1383 सैनिक शहीद हुए, 1047 घायल हुए और 1696 सैनिक लापता हो गये। इसके अलावा 3968 सैनिकों को चीन ने बंदी बना लिया था। भारत ने इस युद्ध में वायुसेना का प्रयोग नहीं किया। जिसके कारण तत्‍कालीन प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू की निंदा भी होती है। इस युद्ध में जहां भारत को जानमाल की गहरी क्षति हुई वहीं चीन के कुल 722 सैनिक मारे गये 1697 घायल हुए। इस युद्ध में चीन ने भारत के 38000 किलोमीटर के क्षेत्र पर कब्‍जा कर लिया।

Chinese troops attacked over India in 1962 during the Prime Ministership of Pt. JL Nehru. Amidst the tension between both countries, a speech of JL Nehru created chaos. Two-day after the attack, Nehru gave its first statement to nation telling about the rough approach of China. It was clear that India will not be able to face Chinese troops. Nehru again, after thirty days of beginning of war, gave statement to nation informing about the situation. However, expert termed the speech as official acceptance of defeat. During the 30-day war between both country, India lost over 1000 soldiers and big chunk of land to China.What happened during the time when China attacked on India? To know more, watch this episode of Pradhanmantri.

Reference :

http://hindi.oneindia.com/news/2012/10/20/india-the-war-in-1962-between-india-china-223137.html and wikipedia

Old TV Shows

Prashant Pandya View All →

I am a full-stack engineer whose passion lies in building great products while enabling others to perform their roles more effectively. I have architect and built horizontally scalable back-ends; distributed RESTful API services; and web-based front-ends with modern, highly interactive Ajax UIs.

I deal with:

Techniques
Web applications
Distributed architecture
Parsers, compilers
Mobile First, Responsive design
Test-driven development

Using technologies :

+ASP.NET,C#,VB.NET,C++,MS SQL,ADO.NET,WCF ,MVC,Web API
+Java, JAX-RS, JavaScript, Node.js
+Ajax, JSON, HTML5, CSS3
+Mac OS X, Linux, Windows
+Android,iOS
+PhoneGap

My Qualities ,I believe :

Self-directed and passionate
Meticulous yet pragmatic
Leadership skills, integrity

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: