Advertisements

है सुना, ये पूरी धरती, तू चलाता है

Listen ….

Hai suna, ye poori dharti tu chalata hai
Meri bhi sun le araj, mujhe ghar bulata hai
Bhagwan hai kahan re tu, aye khuda hai kahan re tu

Hai suna tu bhatke mann ko raah dikhata hai
Main bhi khoya hoon, mujhe ghar bulata hai
Bhagwan hai kahan re tu, aye khuda hai kahan re tu

(Instrumental Break)

Main pooja karoon, ya namazein padhoon
Ardaas karoon, teri main
Na toh mandir mile, na toh girje mile
Tujhe dhoonde thake mere nain

Tujhe dhoonde thake mere nain
Tujhe dhoonde thake mere nain

Jo bhi rasmein hai woh saari, main nibhata hoon
Inn croredon ki tarah main sir jhukata hoon
Bhagwan hai kahan re tu, aye khuda hai kahan re tu

(Instrumental Break)

Tere naam kahi, tere chehre kahin
Tujhe paane ki raah hai kahi
Har raah chala, par tu na mila
Tu kya chahe main samjha nahi

Tu kya chahe main samjha nahi
Tu kya chahe main samjha nahi

Soch bin, jatan karta hi jaata hoon
Teri zidd sir-aankhon par rakh ke nibhata hoon
Bhagwan hai kahan re tu, aye khuda hai kahan re tu

Hai suna, ye poori dharti tu chalata hai
Meri bhi sun le araj, mujhe ghar bulata hai
Bhagwan hai kahan re tu, aye khuda hai kahan re tu

Bhagwan hai kahan re tu, aye khuda hai kahan re tu..

Bhagwan Hai Kahan Re Tu Lyrics In Hindi

है सुना, ये पूरी धरती, तू चलाता है
मेरी भी सुन ले अरज़, मुझे घर बुलाता है।
भगवान है कहाँ रे तू, ए खुदा है कहाँ रे तू।

है सुना, ये पूरी धरती, तू चलाता है
मेरी भी सुन ले अरज़, मुझे घर बुलाता है।
भगवान है कहाँ रे तू, ए खुदा है कहाँ रे तू।

मैं पूजा करू, या नमाज़े पढूं।
अरदास करू तेरी मैं।
न तो मन्दिर मिले, न तो गिरजे मिले।
तुझे ढूँढे थके मेरे नैन।

तुझे ढूँढे थके मेरे नैन।
तुझे ढूँढे थके मेरे नैन।

जो भी रस्में है वो सारी, मैं निभाता हूँ।
इन करोड़ों की तरह मैं सिर झुकाता हूँ।
भगवान है कहाँ रे तू, ए खुदा है कहाँ रे तू।

तेरे नाम कई, तेरे चेहरे कई।
तुझे पाने की राह है कई।
हर राह चला, पर तू न मिला।
तू क्या चाहे मैं समझा नहीं।

तू क्या चाहे मैं समझा नहीं।
तू क्या चाहे मैं समझा नहीं।

सोच बिन, जतन करता ही जाता हूँ।
तेरी ज़िद सर-आँखों पर रख के निभाता हूँ।
भगवान है कहाँ रे तू, ए खुदा है कहाँ रे तू।

है सुना, ये पूरी धरती, तू चलाता है
मेरी भी सुन ले अरज़, मुझे घर बुलाता है।
भगवान है कहाँ रे तू, ए खुदा है कहाँ रे तू।

भगवान है कहाँ रे तू, ए खुदा है कहाँ रे तू।

 

 

Ref : https://lyricstaal.com/lyrics/bhagwan-hai-kahan-re-tu-lyrics-sonu-nigam-pk-2014/

Advertisements

Leave a Reply

%d bloggers like this: